4 December 2016

Share
हार से जीत की ओर कैसे जाएँ 

मन के हारे हार है 
मन के जीते जीत: 
हारे हुए मन से जीत संभव नहीं है 

करत करत अभ्यास के जङमति होत सुजान,
रसरी आवत जात, सिल पर करत निशान।

अर्थात जब रस्सी को बार-बार पत्थर पर रगङने से पत्थर पर निशान पङ सकता है तो, निरंतर अभ्यास से मूर्ख व्यक्ति भी बुद्धिमान बन सकता है।