29 June 2018

Share
" ये काम हम कर सकते हैं  ये हमारा  अभिमान है  और 
ये काम केवल हम ही कर सकते हैं 
ये हमारा गुमान है. 
अभिमान अच्छा है गुमान पतन की शुरुआत है "